clr
[
    [  
  [
सुरक्षित वेब ब्राउज़र और साइट सुरक्षा
 

वेबसाइट संरक्षण और सुरक्षित वेब ब्राउज़र

आर्टिस्टस्कोप साइट संरक्षण प्रणाली (एएसपीएस) दो भागों का समाधान है जो वेब का उपयोग करने का संभवत: सबसे सुरक्षित वातावरण प्रदान करता है. उपयोगकर्ता के कंप्यूटर पर एएसपीएस वेब रीडर को एन्क्रिप्टेड सामग्री पहुंचाने के लिए सर्वर के साथ चल रहे एएसपीएस फ़िल्टर के साथ कुछ भी कौपी या शोषण करने के लिए असुरक्षित नहीं छोड़ा गया है. एएसपीएस सभी वेब सामग्रीयों की प्रतिलिपि सुरक्षा के लिए सबसे अच्छा समाधान प्रदान करता है:
  • वेब के संचित पृष्ठों और डाउनलोड करने, एचटीएमएल और उनकी सामग्री को रोकता है.
  • प्रिंट स्क्रीन, स्क्रीन कैप्चर और स्क्रीन रिकॉर्डिंग रोकता है.
  • मीडिया और छवि डाउनलोड करनेवालों को लिंक प्राप्त करने से रोकता है.
  • डेटाबेस के रिसाव को रोकता है और डेटाबेस अभिलेखों को सुरक्षीत रखता है.
  • फ्लैश, पीडीएफ और वीडियो सहित सभी वेब पेज मीडिया को सुरक्षीत रखता है.
  • सभी वेब अनुरोध और और प्रतिक्रियाओं को मजबूत एन्क्रिप्शन का उपयोग कर पहुँचाता है.
  • सभी वेब अनुप्रयोगों, पटकथा भाषाओं और एसएसएल का समर्थन करता है.
  • किसी भी तीसरे पक्ष सीएसएस या डीआरएम समाधान के साथ एकीकरण को आसानी से समर्थन देता है.
  • किसी भी मीडिया के लिए किसी विशेष व्यवहार की आवश्यकता नहीं है(एन्क्रिप्शन आवश्यक नहीं है).
एएसपीएस वेब रीडर एक सुरक्षित ब्राउज़र है जिसका इस्तेमाल एएसपीएस द्वारा सुरक्षित किए ग​ए चीजों को देखने के लिए किया जाता है. एएसपीएस का उपयोग कर रहे साइटों के आगंतुक स्वचालित रूप से अपने पसंद के ब्राउज़र और वेब रीडर के बीच फ़ेर बदल कर सकतें हैं, निर्भर करता है कि वो एएसपीएस सामग्री देख रहे हैं या सामान्य वेब पेज.

किसी भी मीडिया, डेटा और लिंक को सुरक्षित बनाते हुए एएसपीएस सबसे सुरक्षित प्रतिलिपि संरक्षण प्रदान करेंगे जो आपके वेब पन्नों पर प्रदर्शित किया जा सकता है. चाहे फ़िर वो वेब साइट साधारण एचटीएमएल, जावास्क्रिप्ट, पीएचपी, एएसपी, डौटनेट, शेयरप्वाइंट या कोल्डफ़्यूजन इस्तेमाल क्यों ना करें, एएसपीएस साथ साथ सर्वर पर आपके वेब पेज को एकत्र  करेगा, फ़िर इस तरह से एनक्रिप्ट करके पहुँचाएगा कि सिर्फ एएसपीएस वेब रीडर हीं इसका अनुवाद कर सकेगा.

आर्टिस्टस्कोप साइट संरक्षण प्रणाली (एएसपीएस) का उपयोग क्यों करें?

आज, हम वेब ब्राउज़र के कई प्रकार है और उनमें से ज्यादातर या तो इंटरनेट एक्सप्लोरर या फ़िर मोज़िला के क्लोन हैं और दिमाग में एक हीं उद्देश्य के साथ डिजाइन किए ग​ए हैं कि उन्हें सबसे लोकप्रिय ब्राउज़र बनना है. इनकी लोकप्रियता बढ़ाने के लिए, इनके निर्माता लगातार विकल्पों को जोड़ते रहतें हैं ताकि इनके उपयोगकर्ता बिना किसी कॉपीराइट या लेखकों द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों की परवाह किए बिना आसानी से खोज करने, ढूंढने और सभी प्रकार की मीडिया डाउनलोड करने में सक्षम हों सकें.

वेब सामग्री की रक्षा के लिए इच्छुक वेबमास्टर्स और डिजाइनरों को प्रतिलिपि संरक्षण के लिए मजबूत समाधान पर काम करने की जरूरत है. हालांकि, सुरक्षा की गारंटी देना काफ़ी हद तक असंभव हो सकता है क्योंकि वो वेब ब्राउज़र पर निर्भर करतें हैं जो अतिरिक्त सेवाओं को इस्तेमाल करने की अनुमति देता है जो चोरी करने में सहायक होतें हैं और दूसरे माध्यमों द्वारा सुविधाओं और प्लगिन्स निष्क्रिय करने के लिए साइट स्वामियों द्वारा उपयोग में लाए जातें हैं. आर्टिस्टस्कोप के सुरक्षित वेब ब्राउज़र का आगमन आपको एक विकल्प प्रदान करता है अगर आप अपनी साइटों की सामग्री की रक्षा करना चाहते हैं. एएसपीएस वेबरीडर इन सभी समस्याओं पर काबू पा चुका है और आज की तिथि में इसके जैसा पूरी दुनिया में कुछ भी नहीं है.

एएसपीएस वेब रीडर क्या है?

एएसपीएस वेब रीडर पूरी तरह से तैयार वेब ब्राउज़र है. यह केवल एक ढांचा या आपके इस्तेमाल हो रहे वेब ब्राउज़र का सहायक नहीं है. नतीजतन यह आपके इस्तेमाल हो रहे ब्राउज़र सेटिंग्स द्वारा नियंत्रित नहीं है और एएसपीएस वेब रीडर के उपयोग और इरादतन क्रियाशीलता को रोके बिना कुछ भी निष्क्रिय नहीं किया जा सकता है. तकनीकी दिमाग के लिए इसका मूल क्रोम और सफारी वेब ब्राउज़र के समान है, लेकिन इसका निश्चित रूप से एक अलग अस्तित्व है जिसका बिल्कुल सिरे से पुनर्निर्माण किया गया है यह सुनिश्चित करने के लिए इसका गलत इस्तेमाल ना हो सके.

एएसपीएस अन्य समाधानों की तुलना में कैसा है?

स्पष्ट रूप से, कोई अन्य वेब ब्राउज़र ऐसा नहीं है जो वेब सामग्री के लिए तुलनीय प्रतिलिपि सुरक्षा प्रदान कर सकते है. हांलाकि कुछ ब्राउज़र एैसे हैं जिन्हें वेब परीक्षा के लिए तैयार किया गया है जो कुछ हद तक उपयोगकर्ता प्रतिबंध देतें हैं लेकिन वो नकल के सभी तरीकों से सुरक्षा प्रदान नहीं कर सकते हैं. कुछ वेब ब्राउज़र के प्रतिरूप भी हैं, (आइ ई की अनुकृतियां) जो वेब सामग्री की रक्षा का दावा करतें हैं और जबकि वो प्रिंट स्क्रीन और अन्य हौटकीइज के उपयोग को बाधित कर सकतें हैं, स्क्रीन कैप्चर सॉफ्टवेयर से उनकी सुरक्षा ज्ञात कार्यक्रमों की एक सूची पर निर्भर करता है. कोई भी एक नया एैप्लिकेशन इस्तेमाल कर या स्क्रीन कैप्चर निष्पादन को नया नाम देकर आसानी से ऐसे भ्रामक सुरक्षा का शोषण कर सकतें हैं. ना हीं वेब ब्राउज़र के प्रतिरूप डाउनलोड मीडिया के लिए किसी भी सुरक्षा को प्रदान करते हैं. सभी ब्राउज़रो वो सबकुछ जो वो डाउनलोड करतें हैं एक अस्थायी इंटरनेट फ़ोल्डर (काशे) में जमा रखतें हैं और सबसे आधुनिक वीडियो और छवि हथियाने वाले सॉफ्टवेयर ब्राउज़र काशे से मीडिया पुनः प्राप्त कर लेतें हैं. इसके विपरीत, एएसपीएस वेब रीडर शोषण के किसी भी रास्ते को खुला नहीं छोड़ने के लिए ईजाद किया गया है.

कौपीसेफ़ वेब प्लगइन सारे स्क्रीन कैप्चर और स्क्रीन रिकॉर्डिंग सॉफ्टवेयर से सुरक्षित प्रतिलिपि संरक्षण प्रदान कर सकते हैं और यह विंडोज के सभी लोकप्रिय वेब ब्राउज़रों में काम करता है. लेकिन एक सामान्य वेब ब्राउज़र के अतिरिक्त के रुप में यह उन ब्राउज़र बनाने वालों की दया पर होता है जो वेब सामग्री को सुरक्षित बनाने के बजाय उसे खुलेआम दिखाकर जनता के साथ लोकप्रिय होने में कहीं ज्यादा दिलचस्पी लेतें हैं. इसलिए, एएसपीएस वेब रीडर जो एक संपूर्ण वेब ब्राउज़र है जिसे सारे शोषणो को रोकने के लिए विशेष रुप से तैयार किया गया है और स्क्रीन कैप्चर को रोकने के एक अभिन्न अंग के रूप में अन्तर्निहित व्यवस्था है.

एएसपीएस कैसे काम करता है?

एएसपीएस वेब सामग्री को सर्वर से एक एन्क्रिप्टेड स्वरूप में सीधे वेब ब्राउज़र तक पहुँचाता है जो कि केवल एएसपीएस वेब रीडर समझ सकते हैं. सामग्री को सर्वर पर एन्क्रिप्टेड करने की जरूरत नहीं है और एएसपीएस के माध्यम से वितरण के लिए किसी भी वेब सामग्री को तैयार करने में दोहरे निगरानी की आवश्यकता नहीं है. इसका मतलब यह है कि एक वेबसाइट से पहुँचाए ग​ए डेटाबेस रिकॉर्ड्स, मीडिया और वेब पृष्ठों सहित वो सब कुछ जिन्हें बिल्कुल किसी भी प्रोग्रामिंग भाषा का उपयोग कर फ़्लाई पर बनाया गया है, उन्हें सबसे सुरक्षित ढ़ंग से सर्वर से प्रतिलिपि बनाने , दोहराव या पुनर्प्राप्ति के किसी भी अवसर के बिना उपयोगकर्ता के वेब रीडर तक पहुँचाया जाएगा.

वेबसाइट में किसी भी अलगाव के बिना संरक्षित और सार्वजनिक सामग्री (सर्च इंजन और आकस्मिक आगंतुकों के लिए) दोनों हीं हो सकते हैं. कोई भी पृष्ठ, जो कि सामान्य एचटीएमएल पृष्ठ हो सकता है जिसे आप एएसपीएस वेब रीडर द्वारा उपयोग के लिए प्रतिबंधित करना चाहते हैं, इसके लिए आपको केवल एक अतिरिक्त मेटा टैग शामिल करने की जरूरत है. जब सर्वर को टैग का पता चलता है तब इसे एन्क्रिप्टेड रूप में वितरित किया जाएगा, और केवल एएसपीएस वेब रीडर उस पेज को समझ पाएगा और इसे प्रदर्शित करने में सक्षम होगा. अन्य सभी वेब ब्राउज़र और उपकरण एक सुपाठ्य त्रुटि संदेश प्राप्त करेंगे, और अगर वो इस प्रणाली को धोखा देने की कोशिश करते भी हैं तो उन्हे सिर्फ़ एक एन्क्रिप्टेड बूँद मिलेगी जिसे नासा को सुलझाने में भी महीनों लगेंगे.

सामान्य वेब ब्राउज़र से एएसपीएस वेब रीडर का प्रक्षेपण?

ज्यादातर साइट, यहां तक ​​कि वो भी जिनमें संरक्षित या प्रतिबंधित सामग्री है, आकस्मिक आगंतुकों के लिए एक द्वार और सर्च इंजन के लिए चारा प्रदान करते हैं. और इसे किसी भी एएसपीएस सामग्री के साथ भी अलग होने की जरूरत नहीं है है जिसे एक अलग वेब ब्राउज़र चलाने की आवश्यकता है. सामान्य वेब पन्नों से आप एक प्रक्षेपण बटन को जोड़ सकतें है जो एएसपीएस वेब रीडर को प्रारंभ करता है और नामित प्रारंभ पृष्ठ को लोड कर सकते हैं. एएसपीएस किसी भी लोकप्रिय वेब ब्राउज़र से खोला जा सकता है क्योंकि प्रक्षेपण प्लगइन वेब रीडर की स्थापना में शामिल हैं. यदि एएसपीएस वेब रीडर लगा हुआ है तो यह आपके वेब पेज से शुरू किया जा सकता है. अन्यथा आगंतुकों को अन्य निर्देशों के साथ डाउनलोड लिंक प्रदान किया जाएगा.

एएसपीएस वेब ब्राउज़र और एएसपीएस वेब रीडर की अखंडता

एएसपीएस वेब रीडर आपके वेब साइट और मीडिया की छान - बीन किसी भी अन्य वेब ब्राउज़र की तरह कर सकता है फ़र्क सिर्फ़ इतना है कि कुछ भी किसी भी तरह कौपी नहीं या संचित नहीं किया जा सकता है, जब तक कि आप विशेष रूप से यह अनुमति नहीं देतें हैं. एएसपीएस वेब रीडर के साथ आपकी वेब सुरक्षा तीसरे पक्ष के प्लगइन पर निर्भर नहीं रह गया है, और न ही यह सिस्टम सुरक्षा नीति में परिवर्तन द्वारा लगाया सीमाओं पर निर्भर है क्योंकि जो चीजें आपके सामग्री के लिए सुरक्षा प्रदान करते हैं वो मूल एएसपीएस ब्राउज़र का एक अभिन्न हिस्सा हैं . तो अगर किसी भी तरह से वेब रीडर के साथ छेड़छाड़ हुई है, तो यह नहीं चलेगा और आपकी वेब सामग्री डाउनलोड या प्रदर्शित नहीं होगी ... इससे अधिक सुरक्षित परिदृश्य हो नहीं सकता.

एएसपीएस वेब रीडर का वेब प्रदर्शन

सबसे पहले इस बात को समझना है कि आज जितने भी वेब ब्राउज़र उपलब्ध हैं, उनमें एक चीज आम है और वो है "झूठे विज्ञापन”. वो सभी बेहतर, तेज और अधिक सुरक्षित होने का दावा करते हैं, लेकिन कुल मिलाकर अंतर थोड़ा सा हीं है. वो सभी त्रुटियों और शोषण पर निर्भर करते हैं जो समय के साथ साथ उभर कर आया है और बदलाव के साथ बस खिसक सकतें हैं. अन्यथा, वो सभी सुरक्षित हैं. इंटरनेट की गति के लिए, वो सब एक ही है और बहुत से लोगों को यह नहीं पता है वास्तव में जो बात इसे प्रभावित करता है वो है दोनो सिरों के कनेक्शन की व्यस्तता, उपयोगकर्ताओं का इंटरनेट कनेक्शन और दूसरे छोर पर वेब सर्वर. डीएनएस अनुरोधों के संचय और बलपूर्वक काशे को बनाए रखने के तरीकों के अलावा, वहाँ ज्यादा कुछ भी नहीं है जो कि सुरक्षा जांच के त्याग के बिना गति के लिए किया जा सकता है.

अन्यथा उपयोगकर्ताओं को लगेगा कि एएसपीएस वेब रीडर प्रौद्योगिकी, प्रदर्शन और मीडिया सहायता के क्षेत्र में, हर दूसरे वेब ब्राउज़र के साथ तुलनीय है सिर्फ़ एक चीज को छोड़कर और वो है काशे की पूर्ण अनुपस्थिति. एएसपीएस वेब रीडर डाउनलोड को मेमोरी में जमा करता है जिसके कारण काशे से कुछ भी पुनर्प्राप्त नहीं किया जा सकता है. नतीजतन, पृष्ठों पर दोबारा जाना और मीडिया जिसे पहले हीं डाउनलोड किया जा चुका है तात्कालिक नहीं होगा.

अधिक जानकारी के लिए, मूल्य निर्धारण, परीक्षण सॉफ्टवेयर और ऑनलाइन डेमो साइटों का पता लगाने के लिए, कृपया यहाँ पर क्लिक करके पेरेंट साइट पर जाएँ.
होम
आर्टिस्टस्कोप के बारे में
आर्टिस्टस्कोप डीआरएम
आर्टिस्टस्कोप आरडीसी
एएसपीएस साइट सुरक्षा
कौपीसेफ़ पीडीएफ़
कौपीसेफ़ वीडियो
कौपीसेफ़ वेब
सहायता








Copy Protect Resources

clr